Author: Pedro

A storyteller by heart, weaving vibrant tales and profound narratives in the eloquence. With a quill dipped in passion, he captures the essence of life, love, and everything in between. Pedro's words transcend mere language, evoking emotions that resonate deeply. Join him on the journey of expression and discovery at HindiMore.com, where every post is a masterpiece painted with the strokes of his imagination.

अस्सलामो अलैकुम दोस्तों! आज के इस Blog Post में आप का स्वागत है! आज हम मुज़फ़्फ़र वारसी साहब की लिखी हुई नात शरीफ [तू कुजा मन कुजा] TU KUJA MAN KUJA NAAT LYRICS समाअत करेंगे । तो आप हमारे साथ इस Blog Post में अंत तक बने रहें! TU KUJA MAN KUJA NAAT LYRICS HINDI https://youtu.be/mfm9Mse1ZPQ तू कुजा मन कुजा! तू कुजा मन कुजा! तू कुजा मन कुजा! तू कुजा मन कुजा! बलग़ल उला बिकमालिहि, कशफ-दुजा बिजमालिहि हसुनत जमीउ खिसालिहि, सल्लू अलैहि व आलिहि तू कुजा मन कुजा! तू कुजा मन कुजा! तू कुजा मन कुजा! तू कुजा मन कुजा!…

Read More

अस्सलामो अलैकुम दोस्तों! आज के इस Blog Post में आप का स्वागत है! आज हम आला हज़रत इमाम अहमद रज़ा खाँन साहब की लिखी हुई नात-ए-पाक [सरवर कहुँ के मालिको मौला कहूँ तुझे] जिसे हम महबूब गौहर इस्लाम पूरी के तज़मीन TAKHLIQE KAYENAT KA MANSHA KAHUN NAAT LYRICS मे समाअत करेंगे । तो आप हमारे साथ इस Blog Post में अंत तक बने रहे! TAKHLIQE KAYENAT KA MANSHA KAHUN NAAT lyrics [HINDI] https://youtu.be/OCcfnhZu2aw तख़लीके काएनात का मंशा कहूँ तुझे मसनद नशीने अर्शे मोअल्ला कहूँ तुझे बी आमना के नूरे नज़र क्या कहूँ तुझे सरवर कहूँ के मालिको मौला कहूँ तुझे…

Read More

अस्सलामो अलैकुम दोस्तों! आज के इस Blog Post में आप का स्वागत है! आज हम आला हज़रत इमाम अहमद रज़ा खाँन साहब की लिखी हुई नात-ए-पाक [सब से औला व आला हमारा नबी] जिसे हम महबूब गौहर इस्लाम पूरी के तज़मीन RAHMATE HAQE TALA HAMARA NABI NAAT LYRICS मे समाअत करेंगे । तो आप हमारे साथ इस Blog Post में अंत तक बने रहे! RAHMATE HAQE TALA HAMARA NABI NAAT LYRICS रहमते हक़ ताला हमारा नबी दो जहाँ का उजाला हमारा नबी ज़ुल्फ़ वललैल वाला हमारा नबी सब से औला व आला हमारा नबी सब से बाला व वाला हमारा…

Read More

अस्सलामो अलैकुम दोस्तों! आज के इस Blog Post में आप का स्वागत है! आज हम आला हज़रत इमाम अहमद रज़ा खाँन साहब की लिखी हुई नात-ए-पाक [चमक तुझसे पाते हैं सब पाने वाले] जिसे हम महबूब गौहर इस्लाम पूरी के तज़मीन SARE ARSH QURBE DNA JAANE WALE NAAT LYRICS मे समाअत करेंगे । तो आप हमारे साथ इस Blog Post में अंत तक बने रहे! SARE ARSH QURBE DNA JAANE WALE NAAT LYRICS [HINDI] https://youtu.be/f1jfmcy68hU सरे अर्श कुर्बे दना जाने वाले गुनहगार उम्मत के काम आने वाले मदीने मे आराम फरमाने वाले चमक तुझसे पाते हैं सब पाने वाले मेरा…

Read More

अस्सलामो अलैकुम दोस्तों! आज के इस Blog Post में आप का स्वागत है! आज हम आला हज़रत इमाम अहमद रज़ा खाँन साहब की लिखी हुई नात-ए-पाक [नेमतें बाँटता जिस सम्त वो जीशान गया] जिसे हम महबूब गौहर इस्लाम पूरी के तज़मीन CHHA GAYA ABRE KARAM NAAT LYRICS मे समाअत करेंगे । तो आप हमारे साथ इस Blog Post में अंत तक बने रहे! CHHA GAYA ABRE KARAM NAAT LYRICS [HINDI] https://youtu.be/AoYeCqF9PGk छा गया अबरे करम मौसमे तूफ़ान गया चादरे नूर फेजाओं में कोई तान गया संगे बे जान भी देखा तो उसे जान गया नेमतें बाँटता जिस सम्त वो जीशान…

Read More

अस्सलामो अलैकुम दोस्तों! आज के इस Blog Post में आप का स्वागत है! आज हम कारी अहमदूल फत्तह साहब की आवाज़ में पढ़ी हुई नात-ए-पाक [तुम अपना दामन बिछा के माँगों] TUM APNA DAAMAN BICHHA KE MANGON NAAT LYRICS समाअत करेंगे। तो आप हमारे साथ इस Blog Post में अंत तक बने रहें! TUM APNA DAAMAN BICHHA KE MANGON NAAT LYRICS [HINDI] https://youtu.be/8B6kdjABG6k तुम अपना दामन बिछा के माँगों, हुज़ूर देगें, ज़रूर देगें दिलों को कांसा बना के माँगों, हुज़ूर देगें, ज़रूर देगें!! जहाँ से मौला अली ने माँगा जहाँ से हर एक वली ने मॉंगा उन्ही के चौखट पे जा…

Read More

अस्सलामो अलैकुम दोस्तों! आज के इस Blog Post में आप का स्वागत है! आज हम अब्दुल सत्तार नियाज़ी साहब की लिखी हुई नात-ए-पाक [इस करम का करूँ शुक्र कैसे अदा] ES KARAM KA KAROON SHUKR KAISE ADA NAAT LYRICS समाअत करेंगे । तो आप हमारे साथ इस Blog Post में अंत तक बने रहें! ES KARAM KA KAROON SHUKR KAISE ADA NAAT LYRICS [HINDI] https://youtu.be/68u9fGY2kQs इस करम का करूँ शुक्र कैसे अदा जो करम मुझ पे मेरे नबी कर दिया मैं सजाता हूँ सरकार की महफ़िलें मुझको हर गम से रब ने बरी कर दिया!! ज़िक्र सरकार की हैं बड़ी बरकतें…

Read More

अस्सलामो अलैकुम दोस्तों! आज के इस Blog Post में आप का स्वागत है! आज हम हाफ़िज़ ताहिर क़ादरी साहब की आवाज़ मे पढ़ी हुई नात-ए-पाक [ऐ सब्ज़ गुम्बद वाले मंज़ूर दुआ करना] AYE SABZ GUMBAD WALE NAAT LYRICS समाअत करेंगे । तो आप हमारे साथ इस Blog Post में अंत तक बने रहें! AYE SABZ GUMBAD WALE NAAT LYRICS [HINDI] https://youtu.be/qtdZcyfvZ44 इतना तू करम करना ऐ चश्मे करीमाना जब जान लबों पर हो तुम सामने आ जाना!! ऐ सब्ज़ गुम्बद वाले, मंज़ूर दुआ करना जब वक्त नज़ाअ आए, दीदार अता करना!! ऐ नूरे खुदा आ कर, आँखों मे समा जाना…

Read More

अस्सलामो अलैकुम दोस्तों! आज के इस Blog Post में आप का स्वागत है! आज हम मोहम्मद ज़ोहैब अशरफ़ी साहब की आवाज़ मे पढ़ी हुई नात-ए-पाक [हुज़ूर आप के दर का मैं अदना गदा हूँ] HUZOOR AAPKE DAR KA NAAT LYRICS समाअत करेंगे । तो आप हमारे साथ इस Blog Post में अंत तक बने रहें! HUZOOR AAPKE DAR KA NAAT LYRICS [HINDI] https://youtu.be/eaMOouXHe5w हुज़ूर आप के दर का मै अदना गदा हूँ मेरे दम मे आक़ा ये दम आपका है!! हुज़ूर आपके टुकड़ों पर जी रहा हूँ मै कुछ भी नहीं हूँ करम आपका है!! मै सब से बुरा हूँ…

Read More

अस्सलामो अलैकुम दोस्तों! आज के इस Blog Post में आप का स्वागत है! आज हम मोहम्मद सलमान रज़ा फरीदी साहब की लिखी हुई अलवेदाया कलाम [ऐ जामिया के फारिग मिल्लत की लाज रखना] AE JAMIA KE FARIG MILLAT KI LAJ RAKHNA LYRICS समाअत करेंगे । तो आप हमारे साथ इस Blog Post में अंत तक बने रहें! AE JAMIA KE FARIG MILLAT KI LAJ RAKHNA LYRICS [HINDI] https://youtu.be/p9Ef9HCX-aM ऐ जामिया के फारिग मिल्लत की लाज रखना अब्दुल अज़ीज़ बन कर जिंदाह समाज रखना!! आवाज़ दे रही है इस जामिया की धरती तुम जिस जगह भी रहना इल्मी मिज़ाज रखना!! असलाफ…

Read More